Saturday, April 20, 2024

साहब अब कैसे चलेगा मेरे घर का गुजारा, पति की मौत पर महिला ने लगाई उपायुक्त से गुहार

  • साहब अब कैसे चलेगा मेरे घर का गुजारा, पति की मौत पर महिला ने लगाई उपायुक्त से गुहार

आपकी खबर, ऊना।

पति का शव दो दिनों से सड़क पर रख प्रदर्शन कर रही महिला ने उपायुक्त और पुलिस अधीक्षक ऊना से न्याय की गुहार लगाई है। इनका आरोप है कि निजी अस्पताल में उनके पति का सही से ओपरेशन नहीं हुआ। महिला का कहना है कि उनके पति ही घर में कमाने वाले थे। अब घर का गुजारा करना भी मुश्किल हो रहा है। उनके घर पर महिला का एक बच्चा, ननद और सास है। पति की मौत के बाद महिला सदमे में है।

रविंद्र कुमार की पत्नी मोनिका ने बताया कि वह पति के नाक का माइनर ऑपरेशन करने निजी अस्पताल आई थीं। तमाम रिपोर्ट डॉक्टरों द्वारा ली गई जो सही पाई गई। पति को ऑपरेशन थिएटर ले जाया गया और ऑपरेशन करने के बाद जब पति की अचानक तबीयत बिगड़ गई तो उन्हें मोहाली शिफ्ट करने को कहा गया। आरोप है कि पति की मैहतपुर में ही मौत हो चुकी थी।

बता दे कि नाक के ऑपरेशन के बाद 39 साल के रविंद्र कुमार की मौत से गुस्साए ग्रामीणों का दूसरे दिन भी प्रदर्शन जारी है। मैहतपुर में शव रखकर चक्का जाम कर दिया गया है। संपर्क मार्ग से वाहनों को भेजा रहा है। इस बीच ग्रामीणों ने संपर्क मार्ग पर भी प्रदर्शन शुरू कर दिया। परिजनों ने कहा कि मामला हल न हुआ तो रेल ट्रैक को बाधित करेंगे। पुलिस ने हालात को देखते हुए निजी अस्पताल परिसर को सील कर दिया है। इससे पहले परिजन और ग्रामीण रातभर प्रदर्शन करते रहे। संतोषगढ़ में वाहन खड़े कर सड़क मार्ग जाम कर दिया गया। ग्रामीणों ने एनएच पर चक्का जाम कर डॉक्टर को गिरफ्तार करने की मांग उठाई।
इस बीच उपायुक्त और एसपी ने ग्रामीणों को समझाने की कोशिश की लेकिन कोई हल नहीं हो सका। उपायुक्त ने मामले की जांच के आदेश दे दिए है। जब तक जांच पूरी नहीं हो पाती तब तक अस्पताल को सील रखने के आदेश भी दे दिए गए हैं।

शनिवार को भी रविंद्र कुमार की मौत से गुस्साए ग्रामीणों ने चंडीगढ़ धर्मशाला मुख्य मार्ग पर मैहतपुर में निजी अस्पताल के सामने शव रख प्रदर्शन किया। पुलिस अधिकारियों के समझाने पर भी प्रदर्शनकारी नहीं मानें और अड़े रहे।

 

परिजनों समेत ग्रामीणों का कहना है कि जब तक अस्पताल संचालक डॉक्टर और ईएनटी सर्जन को गिरफ्तार नहीं किया जाता तब तक उनका धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। ग्रामीणों ने कहा कि शुक्रवार सुबह ही डॉ. कोमल मलिक ने उन्हें समझौते का ऑफर दिया और अपनी प्राथमिकी वापस करने की मांग की। कहा कि वह मृतक के परिजनों को उचित मुआवजा देने को तैयार हैं।

देवेंद्र विदेश में नौकरी करता था और कुछ दिन पहले ही छुट्टी लेकर घर आया था। उधर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रवीण कुमार ने कहा कि परिजनों की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया गया है। टांडा मेडिकल कॉलेज की रिपोर्ट के आधार पर ही कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

spot_img

Latest Posts