Thursday, April 18, 2024

एचआरटीसी का कारनामा आधे रूट में ही उतार दी सवारियां

  • एचआरटीसी का कारनामा आधे रूट में ही उतार दी सवारियां
  • सवारियों को आधे सफर में छोड़ गई बस विरोध के बाद आई वापस 

आपकी खबर, शिमला। 

चनावग रूट की बस शुक्रवार को करीब 30 सवारियों को बीच सफर में छोड़ गई। गुस्साई सवारियों के विरोध के बाद यह बस वापस लौट आई और चनावग तक सवारियों को पहुंचाया। यह वाकया चनावग रूट के लिए नया नहीं है इस रूट की सवारियां लंबे समय से ऐसी परेशानियां झेल रही है। यह जानकारी परेशान सवारियों में से प्रकाश, ताराचंद, पूनम, मालती, भगत राम, देवकी देवी, मनोहर, सुनीता, खुशबू, दिव्या, डिम्पल, अजय, साक्षी व अन्य ने दी। उन्होंने कहा एचआरटीसी यूनिट दो की दोपहर को वाया धामी चनावग जाने वाली बस में कंडक्टर ने चनावग की सवारियों का यह कहकर गलू स्टेशन तक का ही टिकट बनाया कि गलू से आगे दोबारा टिकट बनेगा।

गौरतलब है कि गलू स्टेशन से लिंक रोड से मलावण तक यह बस सवारियां छोड़ कर चनावग जाती है। सवारियों ने बताया कि गलू स्टेशन में बस कंडक्टर ने चनावग की सवारियों का सामान बस से बाहर धकेल दिया। परेशान सवारियों ने बताया कि करीब 5 बजे बस मलावण से वापस गलू स्टेशन पहुंची। उन्होंने बताया गलू पहुंच कर बस ड्राईवर व कंडक्टर ने बताया कि बस का टायर पंचर है बस चनावग नहीं जाएगी लेकिन ड्राईवर बस को वापस शिमला की ओर ले गया। गलू स्टेशन में छोटे-छोटे बच्चे, बुजुर्ग, लड़कियां व महिलाएं करीब 30 सवारियां परेशान खड़ी रही। इसी तरह चनावग स्टेशन पर भी शिमला आने वाली सवारियां परेशान रही।

सवारियों ने बताया कि इस रूट पर बार-बार आने वाले ड्राइवर-कंडक्टर ऐसा करते हैं। करीब एक सप्ताह पहले भी यह बस गलू से चनावग नहीं आई थी। उन्होंने बताया कॉलेज की लड़कियां इसी बस से वापस घर जाती है कुछ लड़कियों को अपने स्टॉपेज से करीब 7 किलोमीटर पैदल हरशिंग धार व दाड़वाकोट जंगल के रास्ते घर पहुंचना होता है। काबिलेजिक्र है कि यह इलाका भालुओं के जानलेवा हमलों से खौफजदा है, देर शाम को पैदल सफर करना यहां जोखिम भरा है। पूर्व में राहगीर भालुओं के हमलों में अपनी जान गवां चुके हैं।

इस बाबत एचआरटीसी यूनिट दो के आरएम से बात की गई तो उन्होंने बताया कि सवारियों के लिए बस भेजी जाएगी और यदि बस चालक परिचालक दोषी पाए गए तो उन्हें सस्पेंड किया जाएगा।

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

spot_img

Latest Posts