Friday, July 19, 2024

गडकरी दौरे से नदारद रहे सचिव पीडब्ल्यूडी, जयराम ठाकुर बोले पहले अपने अधिकारियों का व्यवस्था परिवर्तन करें सुक्खू

  • गडकरी दौरे से नदारद रहे सचिव पीडब्ल्यूडी, जयराम ठाकुर बोले पहले अपने अधिकारियों का व्यवस्था परिवर्तन करें सुक्खू

 

आपकी खबर, शिमला।

 

हिमाचल में सुखविंदर सिंह सुक्खू को पहले अपने अधिकारियों का व्यवस्था परिवर्तन करना चाहिए उसके बाद प्रदेश का। पूर्व मुख्यमंत्री एवं नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के दौरे के दौरान सचिव पीडब्ल्यूडी का नदारद रहना दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है।

 

उन्होंने कहा कि केंद्र मंत्री संसद का सत्र छोड़ हिमाचल आए, पर दुर्भाग्यपूर्ण बात यह थी कि उस समय सचिव पीडब्ल्यूडी, ईएनसी पीडब्ल्यूडी मौके पर उपस्थित नहीं थे। मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू को बार बार उनको फोन करके जानकारी लेनी पड़ रही थी। अगर केंद्र मंत्री का सामान्य द्वारा भी होता तो प्रोटोकॉल के मुताबिक उन को उपस्थित होना चाहिए था और इस संकट की घड़ी में तो उनको साथ रहना ही चाहिए था। मुख्यमंत्री या मंत्री हो ना हो पर अफसरों को इस मौके पर उपस्थित होना अनिवार्य है, क्योंकि सही मायने में कितना नुकसान हुआ है यह अफसर ही केंद्र मंत्री के समक्ष रख सकते हैं।

 

जयराम ठाकुर ने कहा की निरीक्षण के दौरान जो नुकसान का आंकलन सामने आ रहा है वह 2500 करोड़ से ज्यादा होगा और केंद्र मंत्री ने आश्वासन दिया है कि सारा खर्च केंद्र वाहन करेगा, यह बहुत बड़ी बात है।

हिमाचल सबका है सत्ता पक्ष, विपक्ष और जनता। सभी मिलकर इस संकट की घड़ी में एकजुट होकर कार्य करेंगे।

उन्होंने कहा की नेशनल हाईवे के एक किलोमीटर के दायरे में जितने भी पुल डैमेज हुए है उन पुलो का निर्माण और रिपेयर का खर्च भी केंद्र वाहन करेगा। इससे कुल्लू, औट, पंडोह, खूंखात्तर सभी जगह के पुलो को फायदा होगा।

 

उन्होंने कहा केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने प्रदेश में बरसात से हुए नुकसान का जायजा लेने के बाद सड़कों की मरम्मत के लिए 400 करोड़ रुपये देने की घोषणा की यह ऐतिहासिक है।

उन्होंने कहा कि इस राशि से फोरलेन, नेशनल हाईवे और तटीकरण का काम होगा। प्रदेश को यह राशि सेतु भारतम परियोजना और सेंट्रल रोड फंड (सीआरएफ) के तहत दी जा रही है। केंद्र सरकार प्रदेश में 12,000 करोड़ खर्चकर 68 टनलों का निर्माण कर रही है। 11 टनल 15 किलोमीटर लंबाई की बन चुकी हैं। 27 टनलों का निर्माण हो रहा है और 30 का निर्माण होना है।

उन्होंने कहा की बिजली महादेव रोप-वे का कार्य जल्द शुरू होगा और 15 अगस्त तक इसका अवार्ड कर दिया जाएगा। इस रोप-वे के निर्माण के लिए 250 करोड़ रुपए की राशि खर्च की जाएगी। इस रोप-वे से पर्यटन को काफी बढ़ावा मिलेगा। इसके लिए भी केंद्र सरकार का आभार।

 

जयराम ठाकुर ने राम सुभाग सिंह की नियुक्ति के प्रश्न पर कहा कि इस पर मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू को बोलना चाहिए क्योंकि उन्होंने विधानसभा सत्र के दौरान इन पर खूब भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। सिंह को प्रधान सलाहकार बनाने की सुक्खू को क्या मजबूरी रही यह वो ही बताएं, एक नहीं अनेक अधिकारी है जिनके कामकाज पर प्रश्नचिन्ह लगे हैं। अब कांग्रेस की व्यवस्थाओं पर भी सवाल उठ रहे हैं।

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

spot_img

Latest Posts