Thursday, April 18, 2024

सेहत से खिलवाड़…आनी को मिले 3 चिकित्सक, 1 ने संभाला पदभार तो 2 ने करवाई एडजस्टमेंट

  • सेहत से खिलवाड़…आनी को मिले 3 चिकित्सक, 1 ने संभाला पदभार तो 2 ने करवाई एडजस्टमेंट

 

  • सचेत संस्था ने सरकार से की डॉक्टरों की जल्द नियुक्ति की मांग

 

आपकी खबर, आनी 4 सितम्बर 2023

 

जिला कुल्लू के आनी खण्ड के अलावा साथ लगते मंडी जिला की दर्जनों पंचायतों की ग्रामीण जनता की स्वास्थ्य सुविधा का केंद्र आनी के सिविल अस्पताल पर डॉक्टरों की एडजस्टमेंट की मार हर बार की तरह एक बार फिर पड़ गयी है। रोजाना करीब 250 की ओपीडी वाले आनी के सिविल अस्पताल को सुखविंदर सिंह सुक्खू के नेतृत्व वाली कांग्रेस की सरकार में 4 अगस्त को एक साथ 3 चिकित्सक मिले थे। जिनमे एक सर्जन के अलावा एक स्त्री रोग विशेषज्ञ और एक हड्डी रोग विशेषज्ञ चिकित्सक शामिल थे। चिकित्सकों की नियुक्ति के बाद आनी कांग्रेस ने सोशल मीडिया पर दनादन पोस्ट डालकर खूब वाह वाही भी लूटी लेकिन ये आर्डर केवल कागजों में ही सिमट कर रह गए । जानकारी के अनुसार एक माह बीत जाने पर 3 विशेषज्ञ चिकित्सकों में से केवल एक सर्जन ने ही जॉइनिंग दी है। जबकि स्त्री रोग विशेषज्ञ और हड्डियों के विशेषज्ञ चिकित्सक ने अपनी एडजस्टमेंट कहीं और करवा ली है।

 

  • विपक्षी दल भाजपा डॉक्टरों की नियुक्तियों को छोड़ अपनी नियुक्तियों में उलझी

विपक्षी दल भाजपा आनी में संगठन में नियुक्ति और नियुक्ति रद्द होने को लेकर आपस मे ही उलझी है। उन्होंने यह जानने की कोशिश तक नहीं कि चिकित्सकों की नियुक्ति का आखिर स्टेटस क्या है और क्षेत्र की जनता के साथ क्या हो रहा है, यह सुध तक नहीं ली गयी। आलम यह है कि अब आनी में चिकित्सकों का टोटा पड़ गया है।

 

  • एक पद पहले से ही खाली चल, दो का कुमारसैन हो गया तबादला 

एक डॉक्टर एक महीने की मेडिकल लीव पर है। जबकि एक अन्य चिकित्सक जनवरी 2024 तक अल्ट्रासाउंड की ट्रेनिंग पर हैं।

ऐसे में आनी के सिविल अस्पताल में चार चिकित्सक बचे हैं। जिन्हें हर दिन 250 की ओपीडी के अलावा एमएलसी,पोस्टमार्टम आदि भी निपटाने होते हैं। एक साथ डॉक्टरों के 5 पदों के खाली होने और 2 के छुट्टी और ट्रेनिंग पर होने के कारण आनी विधानसभा क्षेत्र की जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है।

 

  • सचेत संस्था सरकार से मांग रही चिकित्सक 

 

वहीं क्षेत्र में सामाजिक सुधार और आरटीआई पर काम कर रही सचेत संस्था के अध्यक्ष डोला सिंह चौहान, प्रबंध निदेशक जितेंद्र गुप्ता, गुड्डू ब्रम्हचारी, गौरव मल्होत्रा, चमन शर्मा, अनूप शर्मा, लाल सिंह, दिवेन ठाकुर, सेना ठाकुर, क्षेत्र के यजविंद्र सिंह,संतोष कुमार,राकेश कुमार सहित सैकड़ों लोगों का कहना है कि यूं तो हर राजनीतिक दल अपने कार्यक्रमों और रैलियों में भीड़ जुटाने के लिए या फिर प्रशासन, पंचायतों द्वारा अपने कार्यक्रमों में महिला मंडलों की सेवाएं ली जाती हैं, लेकिन क्षेत्र की महिलाओं की स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओं को लेकर कोई चिंतित नहीं दिखता।

 

हर दिन आनी क्षेत्र की महिलाएं अपनी बीमारी के इलाज के लिए रामपुर या शिमला के चक्कर काटती हैं। यही हाल हड्डियों के रोगियों और बच्चों के रोग विशेषज्ञ की कमी के चलते माता पिता का है। सचेत संस्था और क्षेत्र के लोगों ने प्रदेश कांग्रेस सरकार से मांग की है कि आनी के सिविल अस्पताल में भेजे गए चिकित्सकों को तुरंत ज्वाईन करने के आदेश दिए जाएं।

 

  • विधानसभा में उठाया जायेगा मुद्दा : विधायक

आनी विस क्षेत्र के विधायक लोकेंद्र कुमार ने कहा कि आनी में चिकित्सकों के रिक्त पदों और नियुक्ति होने के बावजूद ज्वाइनिंग न देने के मुद्दे को इस विधानसभा सत्र में जोरदार तरीके से उठाया जायेगा। आनी की जनता की सेहत के साथ खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा।

 

  • चिकित्सकों की कमी चिंता का विषय, स्वास्थ्य मंत्री से करेंगे बात : युपेंद्रकांत मिश्रा

ब्लॉक कांग्रेस कमेटी आनी के अध्यक्ष युपेंद्रकांत मिश्रा ने बताया कि साथ ही मांग की जाएगी कि या तो नियुक्त किये डॉक्टरों से आनी में जॉइनिंग करवाई जाए, या फिर नए आदेश जारी किए जाएं। ताकि लोगों की सेहत से खिलवाड़ न हो।

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

spot_img

Latest Posts