Thursday, July 25, 2024

प्राकृतिक खेती योजना बंद करके किसानों को परेशान कर रही है सुक्खू सरकार : जयराम ठाकुर

  • प्राकृतिक खेती योजना बंद करके किसानों को परेशान कर रही है सुक्खू सरकार : जयराम ठाकुर

 

आपकी खबर, शिमला। 31 अक्तूबर

शिमला: नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर ने कहा कि कांग्रेसनीत सुक्खू सरकार को बने हुए एक साल होने को है, लेकिन मुख्यमंत्री अभी तक बदले की भावना से काम करते हुए सिर्फ़ बीजेपी सरकार द्वारा शुरू की गई योजनाओं को बंद करने का ही काम कर रही है। अब कांग्रेस सरकार प्रदेश के लाखों किसानों और बाग़वानों को परेशान करने के लिए प्राकृतिक खेली जैसी जनहितकारी योजनाएं बंद कर रही है।

उन्होंने कहा कि पहली बार ऐसी सरकार आई है जो नई योजनाएं शुरू करने के बजाय पुरानी योजनाओं को बंद करने का काम कर रही है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सरकारों का काम किसी योजना को और मज़बूत करना हारता है, यदि योजनाओं में कोई कमी रह गई हो तो उसे दूर करना होता है।

 

जयराम ठाकुर ने कहा कि इस समय पूरी दुनिया प्राकृतिक खेती को अपना रही है लेकिन हिमाचल सरकार प्राकृतिक खेती के प्रोत्साहन के लिए चलाई जा रही योजना को बंद कर रही है। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक खेती योजना की हिमाचल में सफलता के लिए केंद्र सरकार द्वारा हिमाचल प्रदेश की कई बार सराहना की गई। इस खेती के ज़रिए किसान रासायनिक उर्वरकों का प्रयोग न करके जैविक उर्वरकों का प्रयोग करते हैं, जिससे किसानों की कृषि लागत एकदम कम हो जाती है।

प्राकृतिक खेती से उत्पादित खाद्य पदार्थ एक तरफ़ किसानों के स्वास्थ्य के लिए फ़ायदेमंद है तो दूसरी तरफ़ बाज़ार में ऐसे उत्पादों की भारी मांग की वजह से अच्छी क़ीमत भी मिल जाती है। लेकिन वर्तमान सरकार प्राकृतिक खेती योजना को बंद करके प्रदेश के किसानों और बागवानों को परेशान कर रही। सुख की सरकार का नारा लगाने वाले प्रदेश के लोगों को दुःख देने का काम कर रहे हैं।

ग़ौरतलब है कि अभी तक प्रदेश में लगभग 2 लाख से ज़्यादा किसान-बागवान परिवारों ने इस खेती विधि को पूर्ण या आंशिक भूमि पर अपना लिया है। प्रदेश की 99 प्रतिशत पंचायतों में यह विधि पहुंच बना चुकी है और 1,17,762 बीघा ( 9,421 हैक्टेयर) से अधिक भूमि पर इस विधि से खेती-बागवानी की जा रही है। इस योजना के तहत 2023 के अंत तक 20 हजार हैक्टेयर से ज़्यादा भूमि को प्राकृतिक खेती के अधीन लाने का लक्ष्य था लेकिन कांग्रेस सरकार ने इस योजना को बंद कर दिया।

 

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि जब से कांग्रेस सत्ता में आई है तब से हमारी सरकार द्वारा किए गए कामों को बंद करने का एक सूत्रीय अभियान चला रही है। उन्होंने कहा कि सरकार बनते ही जनहित के एक हज़ार से ज़्यादा संस्थान बंद कर दिए।दस हज़ार से ज्यादा लोगों को नौकरी से निकाल दिया।

लोगों को राहत देने के लिए डीज़ल पर कम किए गए वाले वैट को बढ़ाकर दो बार में डीज़ल की क़ीमतों को लगभग आठ रुपये तक बढ़ा दिया। उन्होंने कहा कि लगभग एक साल कार्यकाल में कांग्रेस के पास प्रदेश कि लोगों को बताने के लिए कोई उपलब्धि नहीं है।

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

spot_img

Latest Posts