Saturday, April 20, 2024

कठपुतली बनकर रह गई सुक्खू सरकार, सभी योजनाओं का पैसा दे रहा केंद्र : राजीव बिंदल

  • कठपुतली बनकर रह गई सुक्खू सरकार, सभी योजनाओं का पैसा दे रहा केंद्र : राजीव बिंदल
  • कांग्रेस पार्टी की हालत खिसयानी बिल्ली खंभा नोचे की तरह
  • पूछा, जब प्रदेश का खजाना खाली था तो क्यों की झूठी गारंटी की घोषणा

 

आपकी खबर, शिमला। 12 अक्तूबर

 

हिमाचल की सुक्खू सरकार कठपुतली बनकर रह गई है। कांग्रेस के नेता और सरकार खाली खजाने का रोना रो रही है। अगर प्रदेश का खजाना खाली था तो क्यों की झूठी गारंटी की घोषणा। इन गारंटी के माध्यम से जनता के साथ धोख़ा किया गया। 11 माह के कार्यकाल में जो भी कार्य हुए हैं वे सभी केंद्र सरकार की मदद से हुए हैं।

 

यह बात यहां जारी बयान में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल ने कही। उन्होंने कहा कि सुक्खू सरकार बताए कि अभी तक के कार्यकाल में एक भी नया कार्य शुरू हुआ हो। प्रदेश की जनता को झूठे और लुभावने प्रलोभन देकर सत्ता में आई कांग्रेस एक भी नई सड़क का निर्माण नहीं कर पाई। प्रदेश में विकास कार्य पूरी तरह ठप्प हो गए हैं। प्रदेश का खजाना खाली है, की माला जपते रहते हैं और प्रदेश के समस्त विकास कार्यों को बंद कर दिया है।

 

डाॅ. बिंदल ने कहा कि पिछले एक साल में प्रदेश के अपने संसाधनों से एक भी नई सड़क का निर्माण कांग्रेस सरकार ने नहीं किया, जितनी सड़कों, पुलों का निर्माण कार्य चल रहा है वह सभी केन्द्र सरकार द्वारा प्रायोजित योजनाओं के अंतर्गत चल रहा है।इसमें फोरलेन, नेशनल हाई वे का पैसा शत-प्रतिशत केन्द्र की मोदी सरकार दे रही है, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना का पैसा शत-प्रतिशत केन्द्र सरकार दे रही है और प्रदेश की सरकार हाथ पर हाथ रखकर बैठी है और केन्द्र की भाजपा सरकार पर दोषारोपण करने का काम कर रही है।

 

बिंदल ने कहा कि पिछले एक साल में प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने प्रदेश में एक भी नया अस्पलात, एक भी नहीं पीएचसी, एक भी नया हैल्थ सब सैन्टर नहीं खोला और न ही डाॅक्टर्स की और पैरामैडिकल की सैंक्शन स्ट्रैन्थ को बढ़ाया, अपितु पूर्व भाजपा सरकार द्वारा चलाए गए चिकित्सा संस्थानों को बंद करने का काम किया और केवल यह कहकर कि प्रदेश सरकार के पास कोई धनराशि नहीं है। इससे हम नया संस्थान खोले और पुराने खुले हुए, चले हुए संस्थानों को भी इसलिए बंद किया जा रहा है कि उन्हें चलाने के लिए सरकार के पास पैसा नहीं है।

 

उन्होंने कहा कि प्रदेश के शिक्षा मंत्री ने हिमाचल प्रदेश के इतिहास में सबसे बड़ा कीर्तिमान स्थापित किया है। सैकड़ों स्कूल, काॅलेज बंद करके प्रदेश की जनता को नायाब तोहफा दिया है। कांग्रेस पार्टी की हालत इसी प्रकार की है खिसयानी बिल्ली खंभा नोचे। कांग्रेस सरकार और कांग्रेस पार्टी के बीच जो शीत युद्ध चल रहा है, उस लड़ाई में हिमाचल प्रदेश की जनता पिस रही है, जिसके सारे विकास कार्य बंद कर दिए गए है।

 

बिंदल ने कहा कि प्रदेश सरकार में स्थापित नेता लम्बे समय से हिमाचल प्रदेश की विधान सभा के सदस्य/मंत्री/नेता प्रतिपक्ष रहे हैं और उन्हें प्रदेश की माली हालत का, प्रदेश की आर्थिक स्थिति का भली भांति ज्ञान था और है।

 

जब प्रदेश की तंगहाली का इल्म उन्हें था तो उन्होंने अरबों रूपये की गारंटियों की घोषणा करके हिमाचल प्रदेश की जनता को धोखा क्यों दिया? इस बात का उत्तर आज तक न कांग्रेस दे रही है, न सरकार दे रही है और न मुख्यमंत्री दे रहे हैं। केवल प्रदेश सरकार, प्रदेश के मुख्यमंत्री, प्रदेश के मंत्री अपनी जिम्मेवारी से भागते हुए भाजपा पर दोषारोपण करने में जुटे हैं। हिमाचल की जनता विकास चाहती है, हिमाचल की जनता गारंटियां पूरी करने का इंतजार कर रही है, हिमाचल की जनता बहानेबाजी न सुनते हुए सरकार से काम चाहती है।

 

डाॅ. बिंदल ने कहा कि हिमाचल प्रदेश की सरकारों के इतिहास में यह पहली ऐसी सरकार है, जिससे केवल 10 महीने में जनता का मोह भंग हो गया है।

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

spot_img

Latest Posts