Friday, April 19, 2024

गोहर का रक्षित गुप्ता बना सब लेफ्टिनेंट

  • गोहर का रक्षित गुप्ता बना सब लेफ्टिनेंट

आपकी खबर, आनी। 29 नवंबर

10 साल का बच्चा जहां खेलकूद और वीडियो गेम्स का शौकीन होता है वहीं मंडी जिला के गोहर का 10 वर्षीय रक्षित गुप्ता भारतीय सेना के जवानों के प्रति देश के हर नागरिक के दिल में बसने वाले सम्मान से प्रेरित था और सेना में अफसर बनना चाहता था।

30 मार्च 2002 को जन्मे रक्षित गुप्ता ने अपनी मेहनत, परिवार वालों की हरसंभव मदद से 21 वर्ष की आयु में नौसेना में सब लेफ्टीनेंट का पद हासिल कर लिया है। रक्षित 25 नवम्बर को केरल से पास आउट होकर आया है।

उसकी इस उपलब्धि पर परिजनों के अलावा क्षेत्रवासियों में खुशी की लहर है। वर्ष 2012 में जब गोहर के डीएवी स्कूल में 5 वीं तक की प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त कर रहे रक्षित को पिता उमेश गुप्ता और माता नीलम गुप्ता ने उसके, और उसके दादा मुरारी गुप्ता और दादी स्व0 का सपना पूरा करने की मंशा से सुजानपुर स्थित सैनिक स्कूल भेज दिया था।

रक्षित का कहना है कि इतनी छोटी उम्र में ही सैनिक स्कूल में फौजी जैसी जिंदगी जीते जीते कई बार मन मे आया कि वापिस घर चला जाऊं। लेकिन उस वक्त माता-पिता और मेरे सीनियर्स ने मुझे लगातार प्रेरित और सपोर्ट किया।

नतीजा यह रहा कि रक्षित ने एनडीए की परीक्षा पास कर ली और 2019 में पुणे के खड़कवासला स्थित नेशनल डिफेंस अकादमी 3 साल के लिए जॉइन की। जिसके बाद एक साल के लिए केरला के एज़हीमला स्थित भारतीय नौसेना अकादमी जॉइन की। कड़ी मेहनत और लगन के चलते 25 नवम्बर को भारतीय नौसेना में सब लेफ्टिनेंट पास आउट होकर लौटा।

रक्षित गुप्ता ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता,परिवार के सभी सदस्यों, गुरुजनों, दोस्तों और अपने नाना भवानी दत्त गुप्ता और नानी तृप्ता गुप्ता को दिया है। रक्षित गुप्ता ने युवा पीढ़ी को संदेश देते हुए कहा कि सब कुछ आपके दिमाग मे होता है, कोई भी शारिरिक क्षमता आपको अपने लक्ष्य की ओर बढ़ने से रोक नहीं सकती। बस आपको हमेशा प्रेरित रहना है,अपने लक्ष्य के प्रति दृढ़संकल्प के साथ आगे बढ़ने के लिए अपना 100 प्रतिशत देना है।

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

spot_img

Latest Posts