Wednesday, June 19, 2024

पांच दिवसीय जिला स्तरीय दानवीर कर्ण श्री मूल मांहूनाग मेला संपन्न

  • पांच दिवसीय जिला स्तरीय दानवीर कर्ण श्री मूल मांहूनाग मेला संपन्न
  • वरिष्ठ आई.ए.एस. अधिकारी विवेक भाटिया रहे समापन समारोह के मुख्यातिथि

 

आपकी खबर, करसोग। 18 मई

 

पांच दिवसीय जिला स्तरीय दानवीर कर्ण श्री मूल मांहूनाग मेला शनिवार को संपन्न हो गया। मेले के समापन समारोह के मुख्यातिथि वरिष्ठ आईएएस अधिकारी विवेक भाटिया रहे। उन्होंने देवता दानवीर कर्ण श्री मूल मांहूनाग की पूजा अर्चना कर देवता का आशीर्वाद लिया। इस अवसर पर इनकी धर्म पत्नी शिखा शर्मा भी उनके साथ मौजूद रही।

मेले के समापन अवसर पर मुख्यातिथि ने कहा कि देव संस्कृति से जुड़े हुए मेले हमारे पहाड़ी प्रदेश की समृद्ध प्राचीन संस्कृति का हिस्सा है, जिन्हे संजो कर रखना हम सभी का दायित्व है। प्रदेश की समृद्ध प्राचीन संस्कृति को आने वाली पीढ़ियों तक पहुंचाना और उन्हें राज्य की देव संस्कृति से जोड़ना भी हम सभी का सामूहिक दायित्व है। सामूहिक प्रयासों से ही हम इसमें सफल हो सकते है।

उन्होंने कहा किसी भी कार्य को करने के लिए उस कार्य के प्रति मन में भावना होनी चाहिए, तभी हम उसे सफलता पूर्वक पूर्ण कर सकते है। उन्होंने कहा कि यह एक ऐतिहासिक मेला है और हम सभी देवी-देवताओं को मानते है। यह ऐसी शक्तियां होती है जो हमसे किसी भी कार्य को करवा देती है। लेकिन उस कार्य के प्रति हमारे मन से सच्ची भावना होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के आयोजन हमें बहुत कुछ सिखाते भी है और सीखने वाली चीजों को हम सभी को सीखना भी चाहिए तभी हम आगे बढ़ सकते है।

उन्होंने कहा कि मंडी जिला के साथ-साथ प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर मनाए जाने वाले मेले प्रदेश की देव संस्कृति पर आधारित है जो लोगों को एक दूसरे के साथ जोड़ने का कार्य भी करती है। प्राचीन समृद्ध संस्कृति को जीवंत रखने और युवा पीढ़ी को प्राचीन संस्कृति से जोड़ने के लिए मेला संस्कृति को आधुनिकता के साथ जोड़ कर मनाया जाना आधुनिक समाज निर्माण की दिशा में एक बड़ा कदम है।

इस अवसर पर मुख्यातिथि ने उपस्थित लोगों को मतदान के शत प्रतिशत लक्ष्य को हासिल करने के प्रति जागरूक भी किया। उन्होंने कहा कि आने वाली एक जून को हम सभी को मतदान में अवश्य भाग लेना है और सोच समझ कर अपने मताधिकार का प्रयोग करना है।

मेला समिति के अध्यक्ष एवं एसडीएम करसोग राजकुमार ने मुख्यातिथि को शाॅल, टोपी और स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। इस अवसर पर अनेक रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए।

इस अवसर पर डीएसपी करसोग आईपीएस अधिकारी तिरूमलराजू एसडी वर्मा, तहसीलदार करसोग कैलाश कौंडल, खंड विकास अधिकारी चुराग स्पर्श शर्मा, खंड विकास अधिकारी करसोग वैशाली शर्मा, मूल माहूंनाग मंदिर समिति के प्रधान संत राम, महासचिव ईश्वर दास, देवता के गुर काहन चंद शर्मा, विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष व वरिष्ठ अधिकारियों सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

spot_img

Latest Posts