Tuesday, May 28, 2024

करवा चौथ विशेष : विवाहित महिलाएं पूजा के समय पहने इस रंग के कपड़े, रहेगा शुभ

  • करवा चौथ विशेष : विवाहित महिलाएं पूजा के समय पहने इस रंग के कपड़े, रहेगा शुभ
  • जानिए इस दिन पूजा का सही समय, पढ़े पूरी खबर

आपकी खबर, शिमला।

13 अक्तूबर को करवा चौथ पर्व मनाया जाएगा। क्या रहेगी पूजा करने की विधि और सही समय। किस रंग के कपड़े पहनकर पूजा करें। प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्या पंडित शशिपाल डोगरा ने सही और स्टीक जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि करवा चौथ के दौरान लाल रंग शुभ माना जाता है, वहीं विवाहित महिलाओं को अपने कपड़ों के लिए काले या सफेद रंगों से बचना चाहिए। इस विशेष अवसर पर जो अन्य रंग पहन सकते हैं वे हैं पीले, हरे, गुलाबी और नारंगी, अन्य रंगों से बचने की सलाह दी जाती है।

पंडित डोगरा ने बताया कि इस साल चतुर्थी तिथि 12 अक्टूबर बुधवार की रात 01 :59 पर शुरू हो रहा है और 13 अक्टूबर की रात्रि 03: 08 पर समाप्त हो रही है। इसी लिए उदयातिथि 13 अक्टूबर को है। इसलिए करवा चौथ का व्रत 13 अक्टूबर वीरवार को ही रखा जाएगा।

  • ये रहेगा शुभ मुहूर्त

करवा चौथ पूजा मुहूर्त – शाम 06 : 17 से 07: 31 तक कुल अवधि – 01 घण्टा 13 मिनट है। करवा चौथ व्रत समय – सुबह 06 :32 से रात 08 :48 तक है। करवा चौथ चन्द्रोदय का समय शिमला मे 08:03 शाम को होगा। चतुर्थी तिथि प्रारम्भ – 12 अक्टूबर की रात्रि 01 :59 से शुरू होंगी। चतुर्थी तिथि समाप्त – 13 अक्टूबर की रात्रि 03 : 08 पर समाप्त होंगी। ब्रह्म मुहूर्त: सुबह 04: 54 से सुबह 05 :43 बजे तक। अभिजीत मुहूर्त: दोपहर 12 :01 से लेकर 12 : 48 तक अमृत काल: शाम 04 : 08 से 05 : 50 तक रहेगा।

  • करवा चौथ में पूजा की विधि

करवा चौथ का व्रत रख रहीं हैं तो इस दिन सबसे पहले सुबह सूर्योदय से पहले स्नान करके स्वच्छ कपड‍़े पहनें। पूजा घर को साफ कर लें। सास द्वारा दी गई सरगी सुबह सूर्योदय से पहले ग्रहण कर लें। भगवान की पूजा करके निर्जला व्रत का संकल्प लें। व्रत का पारण रात में चंद्रमा के दर्शन करके, अर्घ्य देकर ही करें। पूजा के लिए 10 से 13 करवे रखें।

एक थाली में पूजन सामग्री धूप, दीप, चन्दन, रोली, सिन्दूर आदि रखें। चन्द्र उदय से पहले पूजा कर लें। पूजा के दौरान करवा चौथ कथा जरूर सुनें। पूजा के बाद छलनी से चन्द्र दर्शन करें। अर्घ्य देकर चन्द्रमा की पूजा करें। अब अपनी सास का या घर में किसी बड़े का आशीर्वाद लें। पति के हाथों से पानी पी कर व्रत का पारण करें।

  • करवा चौथ सरगी खाने का शुभ मुहूर्त

करवा चौथ व्रत में सरगी खाने का भी विशेष महत्व है। खासतौर पर पंजाबी समुदाय में सास अपनी बहुओं को सरगी देती हैं जिसे सुर्योदय से पूर्व खाया जाता है। सरगी सुबह यानी सूर्योदय से पहले 4 से 5 बजेके बीच ग्रहण करना उत्तम माना गया है। करवा चौथ का व्रत: 13 अक्टूबर गुरुवार को है।करवा चौथ व्रत पूजा का शुभ समय: 13 अक्टूबर गुरुवार शाम 05:54 से 07:09 बजे, चंद्रोदय का समय: 08:09 बजे, करवा चौथ शुभ योग। ब्रह्म मुहूर्त: सुबह 04: 54 से सुबह 05: 43 तक, अभिजीत मुहूर्त: दोपहर 12 :01 से लेकर 12 : 48 तक, अमृत काल: शाम 04 :08 से 5 : 50 तक रहेगा।

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

spot_img

Latest Posts