Thursday, July 25, 2024

एसजेवीएन ने आरई एवं धर्मल परियोजनाओं के लिए 1,18,000 करोड़ रुपए वित्तपोषण हेतु पीएफसी के साथ एमओयू हस्ताक्षरित किया

  • एसजेवीएन ने आरई एवं धर्मल परियोजनाओं के लिए 1,18,000 करोड़ रुपए वित्तपोषण हेतु पीएफसी के साथ एमओयू हस्ताक्षरित किया

 

आपकी खबर, शिमला। 20 सितंबर, 2023

 

नन्द लाल शर्मा, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, एसजेवीएन ने बताया कि एसजेवीएन के विविध परियोजना पोर्टफोलियो के वित्तपोषणार्थ एसजेवीएन ने पावर फाइनेंस कॉरपोरेशन (पीएफसी) के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं।

 

नन्द लाल शर्मा ने कहा कि पीएफसी ने लगभग 1,18,826 करोड़ रुपए की कुल परियोजना लागत पर स्थापित होने वाली एसजेवीएन की नवीकरणीय परियोजनाओं सौर, जल विदयुत और पंप भंडारण एवं थर्मल परियोजनाओं को वितपोषित करने पर सहमति व्यक्त की है। परियोजना लागत के 70% पर सावधि ऋण वित्तीय सहायता अस्थायी रूप से प्रस्तावित है, जिसे परियोजना आवश्यकताओं के अनुसार नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाओं के लिए बढ़ाया जा सकता है।

नन्द लाल शर्मा अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, एसजेवीएन और पीएफसी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक परमिंदर चोपड़ा की गरिमामयी उपस्थिती में अखिलेश्वर सिंह निदेशक (वित्त) एसजेवीएन और मनोज शर्मा, निदेशक (वाणिज्यिक) पीएफसी द्वारा एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। एमओयू पर हस्ताक्षर के दौरान गीता कपूर निदेशक (कार्मिक) एसजेवीएन एवं पीएफसी के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित रहे।

 

हाल ही में, एसजेवीएन ने नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाओं के विकास के लिए अन्य विद्युत सीपीएसई के साथ विभिन्न समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए हैं। इससे नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्र में एसजेवीएन की उपस्थिती और मजबूत होंगी और वर्ष 2030 तक गैर-जीवाश्म ईंधन स्रोतों से 50 प्रतिशत स्थापित क्षमता के भारत सरकार के लक्ष्य को प्राप्त करने में सहायता मिलेगी।

यह कंपनी के वर्ष 2026 तक 12000 मेगावाट के नए मिशन और वर्ष 2040 तक 50,000 मेगावाट की स्थापित क्षमता के महत्वाकांक्षी साझा विजन को प्राप्त करने में सहायक होगा।

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

spot_img

Latest Posts