Wednesday, November 30, 2022

शिखर केंद्र निचार के नाम रही शिखर बॉक्सिंग प्रतियोगिता की ऑलओवर ट्राॅफी

  • शिखर केंद्र निचार के नाम रही शिखर बॉक्सिंग प्रतियोगिता की ऑलओवर ट्राॅफी
  • छोलतू में आयोजित अंतर शिखर बॉक्सिंग प्रतियोगिता का समापन

आपकी खबर, किन्नौर। 

जे.एस फाउंडेशन द्वारा छोलतू में आयोजित अंतर शिखर बॉक्सिंग प्रतियोगिता के समापन अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि जिला लोक सम्पर्क अधिकारी नरेंद्र शर्मा ने कहा कि जे.एस.डब्लयू जल विद्युत प्रबंधन का किन्नौर जिला में बॉक्सिंग खेल प्रतिभाओं को निखारने में अहम भूमिका रही है।

उन्होंने कहा कि जे.एस.डब्लयू द्वारा जिले में 5 स्थानों सांगला, उरनी, सापनी, निचार व छोलतू में बॉक्सिंग प्रशिक्षण केंद्र स्थापित किए गए हैं जहां पर बॉक्सिंग खिलाड़ियों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर की खेल सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं। इसी कारण जे.एस.डब्लयू द्वारा स्थापित प्रशिक्षण केंद्रों से प्रशिक्षित बाॅक्सरों द्वारा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर 4 पुरस्कार प्राप्त किए गए जिनमें 2 स्वर्ण, 1 रजत व 1 कांस्य पदक शामिल हैं।

जे.एस.डब्लयू जल विद्युत परियोजना के प्रमुख कौशिक मलिक ने इस अवसर पर बताया कि एक दिवसीय अंतर शिखर बॉक्सिंग प्रतियोगिता में 60 लड़के व लड़कियों ने भाग लिया। उन्होंने बताया कि जे.एसडब्ल्यू प्रबंधन द्वारा संचालित सभी बॉक्सिंग प्रशिक्षण केंद्रों पर 165 लड़के व लड़कियां बॉक्सिंग का प्रशिक्षण ले रहे हैं। इन सभी केंद्रों पर प्रशिक्षित बॉक्सिंग कोच जहां इन्हें प्रशिक्षण प्रदान कर रहे हैं वहीं प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे बच्चों को राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित मापदण्डों के अनुसार डाईट उपलब्ध करवाई जा रही है। उन्होंने विश्वास जताया कि निकट भविष्य में यहां से प्रशिक्षित बाॅक्सर एशियन गेम्स व अन्य अंतर्राष्ट्रीय खेल प्रतिस्पर्धाओं में जिले व देश का नाम रोशन करेंगें।

जे.एस.डब्लयू प्रबंधन सी.एस.आर के प्रमुख दीपक डैविड ने मुख्य अतिथि तथा अन्य सभी गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया तथा सी.एस.आर के तहत चलाई जा रही विभिन्न गतिविधियों की जानकारी दी।

प्रतियोगिता के दौरान आयोजित विभिन्न भार वर्ग में आयोजित प्रतियोगिता में आॅल ओवर ट्राॅफी शिखर केंद्र निचार के नाम रही जबकि दूसरे स्थान पर शिखर सेंटर सांगल रहा। इस दौरान सर्वश्रेष्ठ बाॅक्सर का खिताब सांगला के जतिन को, बैस्ट चैलेंजर सांगला की समायरा को तथा छोलतू के सौरव को श्रेष्ठ उभरता हुआ बाॅक्सर चुना गया।

इस दौरान आयोजित बॉक्सिंग प्रतियोगिता के सब-जूनियर (बाॅयज) वर्ग में 32 से 34 किलोग्राम भार वर्ग में उरनी के सुमित ने स्वर्ण पदक, निचार के सूरज ने रजत तथा सांगला के जतिन ने कांस्य पदक जीता। 36 से 38 किलोग्राम भार वर्ग में सांगला के देव ने स्वर्ण, कृष्ण ने रजत तथा उरनी के आशीष ने कांस्य पदक जीता।

30 से 40 किलोग्राम भार वर्ग में उरनी के सौरव ने स्वर्ण तथा सांगला के अर्थव ने रजत पदक जीता। 42 से 44 किलोग्राम भार वर्ग में छोलतू के जतिन ने स्वर्ण, छोलतू के अभिमन्यु ने रजत तथा सापनी के धीरज ने कांस्य पदक जीता। 40 से 42 किलोग्राम भार वर्ग में सांगला के हर्षित ने स्वर्ण पदक, आर्यन ने रजत तथा छोलतू के लक्षित ने कांस्य पदक जीता।

लड़िकयों के सब-जूनियर वर्ग में 36 से 38 किलोग्राम भार वर्ग में निचार की श्रेया ने स्वर्ण, सांगला की समायरा ने रजत तथा सांगला की लक्षमी ने कांस्य पदक जीता। 40 से 42 किलोग्राम भार वर्ग में निचार की राधिका ने स्वर्ण पदक, सांगला की रीतिका ने रजत तथा सांगला की नेहा ने कांस्य पदक जीता। 48 से 50 किलोग्राम भार वर्ग में सांगला की अनुसूया ने स्वर्ण तथा आकांक्षा ने रजत पदक जीता।

आयोजित बॉक्सिंग प्रतियोगिता के यूथ वर्ग (बाॅयज) के 48 से 52 किलोग्राम भार वर्ग में सांगला के जतिन ने स्वर्ण, निचार के इशांत ने रजत तथा सांगला के जीवनदार व सापनी के कपिल ने कांस्य पदक प्राप्त किया। 57 से 60 किलोग्राम भार वर्ग में निचार के अभिषेक ने स्वर्ण पदक, सांगला के विजय ने रजत पदक तथा सांगला के सुशील व निचार के सनी ने कांस्य पदक हासिल किया।

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

spot_img

Latest Posts