Wednesday, November 30, 2022

हिमाचल में डेढ़ लाख लोगों को हितचिंतक बनाएगी विश्व हिन्दू परिषद

  • हिमाचल में डेढ़ लाख लोगों को हितचिंतक बनाएगी विश्व हिन्दू परिषद
  • 15 दिनों में 15 हजार ग्रामों तक पहुंचेगा विहिप का हितचिंतक अभियान 

आपकी ख़बर, शिमला।

विश्व हिन्दू परिषद हिमाचल प्रांत में आगामी 15 दिनों में डेढ़ लाख हिंदुओं को हित चिंतक अभियान के माध्यम से जोड़ने के लिए संपर्क करेगा। विहिप के केन्द्रीय सहमंत्री एवं अखिल भारतीय प्रचार प्रसार प्रमुख विजय शंकर तिवारी ने शिमला में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि विश्व हिन्दू परिषद को कार्य करते हुए 58 वर्ष हो गए, जिसमें कई आंदोलन, अभियान तथा सृजनात्मक कार्य हमने हाथ में लिए। वर्ष 1984 में श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर निर्माण आंदोलन आरम्भ किया, आज अयोध्याजी में भव्य मन्दिर का निर्माण हो रहा है, ऐसे ही रामसेतु, धारा 370 तथा 35A आदि विषयों पर भी हमने हिन्दू समाज की भागीदारी एवं सहयोग से सफलता अर्जित की।

इस अवसर पर हिमाचल प्रांत के मंत्री डॉ सुनील जसवाल भी उपस्थित रहे। उन्होंने कहा कि आज से 10 वर्ष पूर्व तक लव जिहाद मानने के लिए लोग तैयार नहीं थे, लेकिन विगत कुछ दिनों में देश में हिन्दू लड़कियों के नृशंस हत्याओं ने इस भ्रांति से पर्दा हटा दिया हैं आज सरकारों ने धर्मांतरण पर कानून बना दिए, गौ सुरक्षा तथा गौ संवर्धन के लिए अनेकों कार्य प्रारंभ किए गए पंचगव्य से औषधियां बनाई जो काफी प्रचलित हुई, वेदों पर वैज्ञानिक तथा शास्त्रीय अध्ययन के लिए संस्थान स्थापित किए गए।

 

वर्ष 2024 में विश्व हिन्दू परिषद् की स्थापना के साठ वर्ष पूर्ण हो जायेंगे, इस हीरक जयन्ती के पावन अवसर पर विश्व हिंदू परिषद के इस देश व्यापी हितचिंतक अभियान को सर्वस्पर्शी बनाने हेतु हिमाचल प्रांत में 20 नवंबर से 5 दिसम्बर तक हम समाज के हर जाति, मत, पंथ संप्रदाय से संपर्क कर उन्हें हिन्दू समाज व राष्ट्र हित के कार्यों से जोड़ेंगे। उन्होंने बताया कि अभियान में विशेष वर्ग के लोगों को जोड़ने हेतु विशेष संपर्क भी किया जाएगा।

इसके अन्तर्गत शिक्षाविदों, डॉक्टरों, इंजीनियरों, चार्डर्ड अकाउंटेंटों, वकील, पूर्व जजों, गायकों, अभिनेताओं, खिलाड़ियों इत्यादि प्रतिभाओं को सभी तरह के सेलेब्रिटी को भी जोड़ेंगे। विजय शंकर तिवारी ने कहा कि हितचिंतक अभियान की टोलियों का लक्ष्य हिमाचल के 15 हजार गांवों तक जाकर डेढ़ लाख हितचिंतक बनाने का है। इसके अंतर्गत लोगों को विहिप के कार्यों के बारे में विस्तार से जानकारी भी दी जाएगी। साथ ही हितचिंतक अभियान का उद्देश्य विहिप के विभिन्न आयामों के कार्यों का जन सेवार्थ विस्तार करना है।

सेवा कार्यों से अधिकाधिक वंचित समाज को जोड़ना, नई पीढ़ी में सनातन संस्कारों का संचार करना, गौवंशों की रक्षा तथा गौपालन, सामाजिक समरसता, नारी सशक्तीकरण, कुटुंब प्रबोधन, पर्यावरण संरक्षण व मठ-मंदिरों की सुव्यवस्था के साथ ही हिंदू समाज को संगठित करते हुए उसकी सुरक्षा के संकल्प का भाव जगाना भी अभियान का उद्देश्य है। विश्व हिंदू परिषद मतांतरण और लव जेहाद रोकने और घर वापसी के लिए किस तरह कटिबद्ध है, यह जानकारी भी अभियान के अंतर्गत दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि लव जिहाद तथा लोभ एवं बल पूर्वक किये जा रहे धर्मान्तरण को रकने के लिए हिमाचल सरकार के द्वारा धर्मांतरण संशोधन विधेयक को पारित किया गया है। इसके तहत बलपूर्वक धर्मांतरण के लिए जेल की सजा को कम से कम सात साल से बढ़ाकर अधिकतम 10 साल तक कर दिया गया है। वि.हि.प. की कई वर्षो से निरन्तर मांग पर हिमाचल सरकार ने गौ-सेवा के लिए का गठन किया, जो कि संगठन की बड़ी सफलता है।

तिवारी ने ये भी कहा कि हिन्दूसमाज पर हो रहे प्रहारों का प्रतिकार आवश्यक है, यह कार्य संगठित समाजिक शक्ति के साथ ही सम्भव हो सकेगा।

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

spot_img

Latest Posts